ALL राजस्थान अंतर्राष्ट्रीय राष्ट्रीय लेख अध्यात्म सिने विमर्श वाणिज्य / व्यापार
अब नहीं होगी हाउसिंग बोर्ड की उपेक्षा - मुख्यमंत्री
February 23, 2020 • भावेश कीर्ति • राजस्थान

जयपुर। मुख्यमंत्री  अशोक गहलोत ने कहा कि जिस संस्था को जरूरतमंद लोगों के आवास के सपने को पूरा करने के लिए बनाया गया हो तथा जिसे स्व. द्वारकादास पुरोहित जैसे पुरोधाओं ने खड़ा किया हो, उस संस्था हाउसिंग बोर्ड पर ताले लगाने जैसी बातें कही गई। हजारों बिना बिके मकान पडे होने के बावजूद नए मकान बनते गए ऐसा क्यों हुआ, यह मेरी समझ से परे है। उन्होंने कहा कि हमारी सरकार ने हाउसिंग बोर्ड को फिर से सशक्त बनाने का काम किया है। सरकार यह भी सुनिश्चित करेगी कि हाउसिंग बोर्ड की उपेक्षा न हो। बोर्ड के अधिकारियों एवं कर्मचारियों पर यह जिम्मेदारी है कि वे लोगों के विश्वास पर खरा उतरें।

गहलोत रविवार को बिडला सभागार में राजस्थान आवासन मंडल के राज्य स्तरीय स्वर्ण जयंती समारोह को संबोधित कर रहे थे। उन्होंने कहा कि हर व्यक्ति चाहता है कि उसके पास एक मकान जरूर हो। आम आदमी के इस सपने को पूरा करने के लिए हाउसिंग बोर्ड को नई-नई योजनाएं लाकर राज्य के सभी जिलों में अपना विस्तार करना चाहिएश्री गहलोत ने कहा कि तिब्बती शरणार्थियों, दस्तकारों, राज्य सहायक कर्मचारियों, प्रहरियों, शिक्षकों, सीआरपीएफ जवानों सहित समाज के विभिन्न तबकों के लिए आवासीय एवं अन्य योजनाएं बनाकर आवासन मंडल ने अच्छी पहल की है।

मुख्यमंत्री ने कहा कि आवासन मंडल में पवन अरोड़ा को सरकार ने सोच-समझकर आयुक्त लगाया है। आयुक्त की अपनी एक महत्वपूर्ण भूमिका होती है और अरोड़ा ने आयुक्त के रूप में अपनी उस भूमिका को बेहतर तरीके से निभाया है। उन्होंने उम्मीद जताई कि जो मेंडेट धारीवालजी ने उन्हें दिया है, उसे वे पूरा करने में कोई कमी नहीं रखेंगे। हाउसिंग बोर्ड में अच्छी शुरूआत हो गई है। कम समय में अच्छा रिजल्ट दिया है। उन्होंने कहा कि पवन अरोड़ा बहुत ही होशियार अधिकारी है। इसलिए इन्होंने कम समय में 700 करोड़ रूपये कमा लिए। हाउसिंग बोर्ड का मान-सम्मान वैश्विक स्तर पर उंचा कर दिया, ये इनकी खासियत है।

मुख्यमंत्री ने मुख्य सचिव डीबी गुप्ता से कहा कि अगर आईएएस एसोसिएशन के भवन बनाने की जिम्मेदारी पवन अरोड़ा को दे दी, तो उसका भी भवन बना देंगे। ये इनकी प्रतिभा है कि इन्होंने आरएएस एसोसिएशन का शानदार भवन बनाया है, जबकि आईएएस एसोसिएशन का कोई भवन नहीं हैं

मुख्यंमत्री ने कहा कि आवासन मंडल द्वारा अपनी स्थापना के स्वर्ण जयंती समारोह को बहुत ही शानदार तरीके से मनाया जा रहा है। आवासन मंडल में एक नया माहौल बना है। 22 फरवरी को मंडल के संस्थापक अध्यक्ष और स्वतंत्रता सेनानी स्व. श्री द्वारकादास पुरोहित जी की मूर्ति के अनावरण का कार्यक्रम बहुत ही शानदार रहा। उन्होंने हल्के-फुल्के अंदाज में कहा कि पवन अरोड़ा इतने होशियार हैं कि इन्होंने पहले 700 करोड़ रूपये कमाकर उपलब्धि हासिल की और फिर बॉलीवुड नाईट का आयोजन कर रहे हैं। ऐसा करने से इन पर कोई प्रश्नचिन्ह नहीं लगेगा, इनको पता है कि अगर 25 करोड़ रूपये कमाकर ऐसा आयोजन करते, तो सोचना पड़ता। उन्होंने कहा कि अपनी स्थापना के 50 वर्ष तो बहुत संस्थाएं मनाती हैं, लेकिन जिस तरह हाउसिंग बोर्ड मना रहा है, यह निश्चित रूप से यादगार है।

मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने राजस्थान आवासन मंडल द्वारा स्वर्ण जयंती समारोह के तहत 22 फरवरी को प्रदेश के 19 शहरों में 30 से अधिक स्थानों पर आयोजित हुए विशाल रक्तदान शिविरों की सराहना की। एक कार्यक्रम हो सकता था, दो कार्यक्रम हो सकता था, लेकिन आपने इतने कार्यक्रम करके अपना खुद का कमिटमेंट बताया समाज के प्रति। रक्तदान महादान है। मानस सेवा करने का हमारा धर्म और वह धर्म आपने निभाया, इसके लिए आप साधुवाद के पात्र हैं।

भूले नहीं मेट्रो का दूसरा चरण, शुरू करेंगे काम

मुख्यमंत्री ने जयपुर को आधुनिक स्वरूप देने के लिए उनके पूर्व कार्यकाल में हुए घाट की गूणी टनल, एलीवेटेड रोड, जेएलएन मार्ग, कठपुतली नगर सड़क जैसे विकास कार्यों का उल्लेख करते हुए कहा कि मेट्रो के पहले चरण का काम पूरा होने वाला है। इसके दूसरे चरण के काम को हम भूले नहीं हैं। इसे भी हम शुरू करेंगे। उन्होंने कहा कि सरकारी कर्मचारियों को छूट के आधार पर किश्तों में आवास मिल सकें, इसके लिए हमारी सरकार नीतिगत फैसला लेगी।

गहलोत ने कहा कि पहला सुख है निरोगी काया। इसी सोच को ध्यान में रखते हुए हमारी सरकार निरोगी राजस्थान की अवधारणा पर काम कर रही है। उन्होंने हाउसिंग बोर्ड के कार्मिकों का आह्वान किया कि वे राज्य सरकार की निरोगी राजस्थान की भावना को आमजन तक पहुंचाने में सहयोग करें। हाउसिंग बोर्ड द्वारा सार्वजनिक पार्कों में ओपन एयर जिम स्थापित करने का निर्णय सराहनीय है। गहलोत ने इस अवसर पर हाउसिंग बोर्ड के पचास साल के सफर को दर्शाने वाली स्मारिका ‘स्वर्णिम मंडल' का विमोचन किया। मुख्यमंत्री ने स्वर्ण जयंती उपहार योजना के लक्की ड्रॉ के विजेताओं को कार एवं स्कूटी की चाबियां सौंपी।

12 परियोजनाओं का किया शिलान्यास एवं शुभारम्भ

मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने हाउसिंग बोर्ड की ओर से जयपुर, जोधपुर, कोटा सहित राज्य के अन्य शहरों में विभिन्न नई परियोजनाओं का शिलान्यास एवं शुभारंभ किया। मुख्यमंत्री ने उल्लेखनीय कार्य करने वाले हाउसिंग बोर्ड के अधिकारियों एवं कर्मचारियों को सम्मानित भी किया। मुख्य अभियंता के.सी. मीना, अतिरिक्त मुख्य अभियंता नत्थू राम, उप आवासन आयुक्त सीताराम बारी, आर सी. जैन, जनसम्पर्क अधिकारी प्रमोद वैष्णव, आवासीय अभियंता आर सी. बुढ़ानिया सहित एक दर्जन से अधिक लोगों को सम्मानित किया

मुख्यमंत्री के निर्देशन में हाउसिंग बोर्ड को किया मजबूत- नगरीय विकास मंत्री

नगरीय विकास एवं आवासन मंत्री शांति धारीवाल ने समारोह में कहा मुख्यमंत्री के निर्देशन में हाउसिंग बोर्ड को मजबूत किया गया है। उन्होंने कहा कि बीते कुछ समय में आवासन मंडल ने अपनी करीब एक हजार करोड़ रूपए की संपत्तियों को अतिक्रमण से मुक्त कराया है। जो लोग ब्याज और पेनल्टी के कारण अपने मकानों की बकाया लीज एवं अन्य देनदारी नहीं चुका पाते उनके लिए एमनेस्टी योजना लाई गई है। उन्होंने कहा कि मुख्य सचिव डीबी गुप्ता ने कहा कि हाउसिंग बोर्ड एक ऐसी संस्था है जो निर्धन एवं अल्प आय वर्ग के लोगों के आवास के सपने को पूरा करती है। इसकी महत्ता कभी कम नहीं होगी।

उन्होंने और अधिक पारदर्शिता से कार्य करने तथा सिटीजन केयर सेंटर स्थापित किए जाने का सुझाव दिया। आवासन आयुक्त पवन अरोड़ा ने बीते पांच माह में ई ऑक्शन, नीलामी, लीज मनी, आवंटन आदि के जरिए 702 करोड़ रूपए के राजस्व अर्जन की जानकारी दी। उन्होंने कहा कि करीब 21 हजार से अधिक ऐसे मकान थे जिन्हें खरीददार नहीं मिल पा रहे थे। मुख्यमंत्री के निर्देश पर बोर्ड ने इनमें से 3 हजार 12 मकानों को विक्रय करने में सफलता हासिल की है। ऊर्जा मंत्री बीडी कल्ला, परिवहन मंत्री प्रतापसिंह खाचरियावास, मुख्य सचेतक महेश जोशी, विधायक अमीन कागजी, रफीक खान तथा आवासन मंडल के अध्यक्ष भास्कर ए. सावंत भी उपस्थित थे। इस अवसर पर बोर्ड के पूर्व अध्यक्षों एवं आयुक्तों को भी सम्मानित किया गया।

इन परियोजनाओं का हुआ शिलान्यास

1. जोधपुर चौपाटी, जोधपुर जोधपुर चौपाटी का निर्माण चौपासनी आवासीय योजना, अशोक उद्यान के पास, जोधपुर की मुख्य 60 फीट सड़क पर स्थित वाणिज्यिक भूखण्ड क्षेत्रफल 3168 वर्गमीटर पर प्रस्तावित है। निर्माण कार्य का शिलान्यास। (अनुमानित व्यय रूपये 5.00 करोड़)

2. महात्मा गांधी सम्बल आवासीय योजना, बड़ली, जोधपुर का शुभारम्भ जोधपुर स्थित नवीन योजना महात्मा गांधी सम्बल आवासीय योजना, बडली में लगभग कुल 950 बीघा भूमि पर प्रस्तावित है, जिसमें से प्रथम चरण में लगभग 30 बीघा भूमि पर आर्थिक दृष्टि से कमजोर आय वर्ग-153 एवं अन्य आय वर्ग-335 कुल 488 आवासों का निर्माण प्रस्तावित है। (अनुमानित लागत EWS प्रति आवास रूपये 4.65 लाख एवं LIG प्रति आवास रूपये 6.85 लाख)

3. मुख्यमंत्री राज्य सहायक कर्मचारी आवासीय योजना, जयपुर का शुभारम्भ प्रताप नगर, सेक्टर-26, जयपुर में राज्य सहायक कर्मचारी (ड्राईवर, कनिष्ठ सहायक, टेलीफोन ऑपरेटर, ट्रेसर, गार्डनर, जमादार, हैल्पर, स्वीपर इत्यादि पे-मैट्रिक्स एल-1 से एल-5) बहुमंजिलीय (बी+एस+12) लगभग 900 फ्लेट्स अनुमानित (निर्माण क्षेत्रफल 600 वर्गफीट) 18853 वर्गमीटर ग्रुप हाउसिंग भूखण्ड पर प्रस्तावित है। (अनुमानित लागत प्रति फलेट रूपये 9.90 लाख )

4. कोटा चौपाटी, कोटा कोटा चौपाटी का निर्माण कुन्हाडी आवासीय योजना, कोटा में स्थित वाणिज्यिक भूखण्ड क्षेत्रफल लगभग 1700 वर्गमीटर पर प्रस्तावित है। निर्माण कार्य का शिलान्यास (अनुमानित व्यय रूपये 4.00 करोड)

5. इन्दिरा गांधी नगर योजना, जयपुर इन्दिरा गांधी नगर योजना में एसटीपी निर्माण, मुख्य सड़क कारपेटिंग कार्य, पार्क विकास एवं अन्य विकास कार्यों का शिलान्यास (अनुमानित व्यय रूपये 27.00 करोड़)

6. दस्तकार आवासीय योजना, नायला, जयपुर दस्तकार आवासीय योजना, नायला में एम्पीथियेटर, फुड कोर्ट एवं प्रदर्शनी स्थल निर्माण कार्य का शिलान्यास (अनुमानित व्यय रूपये 4.00 करोड)

7. 50 ओपन जिम स्थापित करने की घोषणा प्रदेश में मण्डल की विभिन्न अहस्तान्तरित आवासीय योजनाओं में स्थित पार्कों में 50 ओपन जिम स्थापित करने की घोषणा।

8. सरकारी कर्मचारियों को किश्तों पर मकान की उपलब्धता मण्डल के 50% तक की छूट पर उपलब्ध अधिशेष मकान अब सरकारी कर्मचारियों को किश्तों पर भी उपलब्ध कराए जाएंगे और इसके लिए मण्डल शीघ्र एक नीति लाए।

9. प्रताप नगर, जयपुर में सामुदायिक केन्द्र का शिलान्यास प्रताप नगर योजना सेक्टर-26, जयपुर में सामुदायिक केन्द्र (अनुमानित लागत 150 लाख रू.) का निर्माण।

10. प्रताप नगर जयपुर में आयुष मार्केट (दवा बाजार) का शुभारम्भ प्रताप नगर स्थित राजस्थान स्वास्थ्य विज्ञान विश्वविद्यालय एवं हॉस्पिटल तथा नारायणा हृदयालय के समीप आयुष मार्केट का शुभारम्भ, जिसमें कुल 54 व्यावसायिक शोरूम भूखण्डों की योजना, लगभग 50 करोड़ रूपये का राजस्व अपेक्षित।

11. जोधपुर की आवासीय योजनाओं में विकास कार्यों का शिलान्यास जोधपुर की कुडी भगतासनी एवं महात्मा गांधी सम्बल आवासीय योजना बडली में लगभग 10 करोड रूपये की लागत से सडक निर्माण के वृहद कार्य

12. सिटी पार्क मानसरोवर जयपुर का शिलान्यास जयपुर की मानसरोवर आवासीय योजना में सिटी पार्क का शिलान्यास।