ALL राजस्थान अंतर्राष्ट्रीय राष्ट्रीय लेख अध्यात्म सिने विमर्श वाणिज्य / व्यापार
अल्पसंख्यकों को गुमराह करने का चल रहा षड्यंत्र : आलोक कुमार
June 15, 2020 • तहलका ब्यूरो • राजस्थान

जयपुर। विश्व हिंदू परिषद के अंतर्राष्ट्रीय कार्याध्यक्ष आलोक कुमार ने ऑनलाइन पत्रकार वार्ता करते हुए कहा है कि देश में एक वर्ग विशेष से जुड़े हुए लोगों द्वारा अल्पसंख्यक वर्ग के मुस्लिमों एवं ईसाइयों को गुमराह करने का षड्यंत्र चलाकर उनके मन में असुरक्षा का भ्रम फैलाया जा रहा है। इसके कारण देश के मुस्लिम बहुल इलाकों में मॉब लिंचिंग की घटनाएं बढ़ी हैं। ऐसी घटनाओं पर सरकारों को रोक लगाने की जरूरत है।

उन्होंने कहा कि सिविल सोसायटी के नाम पर अपनी दुकान चलाने वाले जानबूझकर अल्पसंख्यकों में भ्रम फैलाने का काम कर रहे हैं। इसके कारण जगह-जगह हिंदुओं पर हमले हो रहे हैं। चाहे बंगाल हो या असम, झारखंड हो या बिहार, कोई भी राज्य इससे अछूता नहीं हैं। इसलिए देश में सांप्रदायिक विद्वेष फैलाने वाली शक्तियों को पहचान कर रोकने की जरूरत है। हिन्दुओं के पलायन पर कहा कि हरियाणा का मेवात तो एक उदाहरण है, जहां से हिंदू पलायन कर चुके हैं। देश के कई गांव ऐसे हैं जो हिंदू विहीन हो चुके हैं।

गुमराह करने वालों को करें बेनक़ाब
आलोक कुमार ने कहा कि विहिप कानून और शासन में विश्वास करती है। किसी को भी कानून अपने हाथ में लेने का समर्थन नहीं करती है, परंतु सवाल उठता है कि जब देश में मॉब लिंचिंग का शिकार होने वाला कोई हिंदू होता है तब मानवाधिकार की दुहाई देने वाले लोग कहां चले जाते हैं। तब देश में क्यों नहीं कोई प्रदर्शन होता है।

उन्होंने कहा कि राम जन्मभूमि पर सुप्रीम कोर्ट का फैसला जब आया तो मुस्लिम समाज के बीच भ्रम फैलाने का काम किया गया। इसी तरह धारा 370 को हटाने के समय किया गया। सीएए जब लाया गया तब भ्रम फैलाया गया कि देश में रहने के लिए मुस्लिमों से प्रमाण मांगे जाएंगे। इसलिए ऐसे लोगों को सबके सामने बेनकाब करने की जरूरत है।