ALL राजस्थान राष्ट्रीय अंतर्राष्ट्रीय लेख अध्यात्म सिने विमर्श वाणिज्य / व्यापार
औद्योगिक इकाई में संक्रमित कार्मिक मिलने पर कार्यवाही की धारणा निर्मूल: आयुक्त उद्योग अग्रवाल
April 24, 2020 • तहलका ब्यूरो • राजस्थान

स्वास्थ्य सुरक्षा मानकों की पालना पर जोर 

जयपुर। उद्योग आयुक्त मुक्तानन्द अग्रवाल ने उन सभी आंषकाओं को निर्मूल बताया है जिनमें संक्रमित कार्मिक के औद्योगिक इकाई परिसर में मिलने पर इकाई के मुख्यकार्यकारी को सजा देने, इकाई को तीन माह के लिए सीज करने और आवष्यक सुरक्षा मापदण्डों की पालना नहीं करने पर दो दिन के लिए बंद करने की कार्यवाही प्रचारित की जा रही है। उन्होंने बताया कि केन्द्रीय गृह मंत्रालय ने 23 अप्रेल को सभी राज्यों के मुख्य सचिवों को पत्र लिख कर स्पष्ट कर दिया है कि विभाग द्वारा इस संबंध में जारी दिषा-निर्देषों को लेकर भ्रम की स्थिति बनी है। उन्होंने बताया कि उद्योग विभाग में स्थापित नियंत्रण कक्ष उद्यमियों के लिए उपयोगी सिद्ध हो रहा है।

आयुक्त अग्रवाल ने बताया कि केन्द्रीय गृह मंत्रालय द्वारा जारी पत्र में स्पष्ट कर दिया गया है कि गाईड लाइन्स में इस तरह का कोई प्रावधान नहीं है। उन्होंने बताया कि आपदा प्रबंधन कानून के तहत कार्यवाही तभी होगी जबकि नियोक्ता की जानकारी में होने के बावजूद लापरवाही बरती जा रही हो। उन्होंने कहा कि कोरोना महामारी की व्यापकता को देखते हुए यह जरुरी है कि औद्योगिक इकाइयां सोषल डिस्टेंस,  मानक स्वास्थ्य सुरक्षा मापदण्डों की पालना और केन्द्र व राज्य सरकार द्वारा जारी एडवाइजरी की पालना सुनिष्चित करें।

अग्रवाल ने बताया कि उद्योग विभाग में स्थापित नियंत्रण कक्ष के प्रति प्रदेष के उद्यमियों ने रुचि दिखाई है और डेढ़ दिन में ही करीब 200 से अधिक जिज्ञासाओं, भ्रांतियों, स्पष्टीकरण और प्रक्रियाओं के संबंध में प्रदेष भर से कॉल प्राप्त हुए हैं। गौरतलब है कि उद्योग विभाग में गुरुवार से अतिरिक्त निदेषक अविन्द्र लढ़डा के निर्देषन में दो उपनिदेषकों, एक सहायक निदेषक और अन्य कार्मिकों द्वारा दूरभाष पर प्राप्त समस्याओं का समाधान किया जा रहा है। उन्होंने बताा कि संभागीय प्रभारी  अधिकारिययों ने भी जिला व संभाग स्तर पर समन्वय बनाना आरंभ कर दिया है।