ALL राजस्थान अंतर्राष्ट्रीय राष्ट्रीय लेख अध्यात्म सिने विमर्श वाणिज्य / व्यापार
बच्चें बने बाल शिवाजी- मातृशक्ति ने जीजामाता के जीवन से ली प्रेरणा 
June 3, 2020 • तहलका ब्यूरो • राजस्थान
जयपुर। हिन्दू साम्राज्य दिनोत्सव विशेष सप्ताह के अंतर्गत जयपुर प्रांत में विभिन्न गतिविधियों का आयोजन किया जा रहा है। कार्यक्रम हिन्दू शिरोमणी छत्रपति शिवाजी महाराज के बचपन से लेकर उनके लोक कल्याणकारी शासन व्यवस्था पर केन्द्रित है। सप्ताह का शुभारंभ रविवार को वक्ताओं के प्रशिक्षण से हुआ। वहीं सोमवार को बालकों के लिए मैं हूं बाल शिवाजी प्रतियोगिता का आयोजन हुआ। इसमें शिवाजी के रुप में सजे- धज्जे बालवृंद के विविध रुप दिखाई दिए। प्रतियोगिता में बच्चों ने बढचढ़कर भाग लिया और शिवाजी के बाल्यकाल से सम्बंधित घटनाओं, कथाओं, फिल्मों, गीत- कविताओं का पाठ भी किया। बच्चों के लिए शिवाजी बनाओ प्रतियोगिता भी आयोजित की गई। 
 
मंगलवार को मातृशक्ति के लिए "मैं हूँ जीजामाता" विषय पर प्रबोधन कार्यक्रम हुए। इनमें विविध प्रसंगों के माध्यम से जीजामाता प्रेरणा पुंज जीवन का स्मरण किया गया। इस दौरान बौद्धिक, प्रश्नावली, फ़िल्म-गीत आदि के माध्यम से जीजामाता के जीवन से अवगत कराया गया। बुधवार मैं शिवाजी विषयक कार्यक्रम में शिवाजी के तरूणवय से युवाओं को परिचित कराया गया। इस आयु में शिवाजी के साथी योद्धा रहे जैसे- बाजीप्रभु देशपाण्डे, तानाजी मालुसरे, येसाजी कंक, जीवा माल्हा, शिवा नाई इत्यादि की घटनाओं को सामने रखते हुए फ़िल्म, गीत, नाटक दिखाए गए।