ALL राजस्थान अंतर्राष्ट्रीय राष्ट्रीय लेख अध्यात्म सिने विमर्श वाणिज्य / व्यापार
बीआरटीएस कॉरिडोर को हटाने की कार्य योजना बनाकर जल्द प्रस्तुत करें - परिवहन मंत्री
March 19, 2020 • तहलका ब्यूरो • राजस्थान
जयपुर। परिवहन मंत्री प्रताप सिंह खाचरियावास ने शहर के बीआरटीएस कॉरिडोर को पिछले 10 वर्ष से अपने उद्येश्यों में नाकाम रहने, सीकर रोड पर लगातार बड़ी संख्या में सड़क दुघटनाओं, मौतों एवं यातायात जाम का कारण बनने के कारण अधिकारियों को इसे हटाने की कार्य योजना बनाकर जल्द प्रस्तुत करने को कहा है। उन्होंने जयपुर में यातायात के सुगम संचालन के लिए अन्य वैकल्पिक परिवहन मॉडल्स की दिशा में प्रस्ताव लाने के भी निर्देश दिए हैं।
 
खाचरियावास ने बुधवार दोपहर को यहां शासन सचिवालय मेंं हुई बैठक में जेडीए, नगरीय विकास विभाग, मेट्रो, परिवहन एवं पुलिस अधिकारियों को सम्बोधित करते हुए ये निर्देश दिए। उन्होंने कहा कि यह परियोजना अपने लक्ष्यों में सफल नहीं रही और इसके कारण कुल 19 किलोमीटर की योजना में केवल सीकर रोड के 6.5 किलोमीटर पर ही प्रतिमाह औसतन 2 लोगों की सड़क दुर्घटनाओं में मौत हो रही है। उन्होंने अधिकारियों से इस बात पर खासी नाराजगी जाहिर कि इतनी खामियों के बावजूद शहर में बीआरटीएस प्रोजेक्ट के बारे में पिछले 10 वर्ष में अधिकारियों द्वारा कोई निर्णय नहीं किया गया है।
 
रोड सेफटी कौंसिल में इसके बारे में निर्णय के बाद ही अधिकारियों ने लोकहित के इस विषय के बारे में सोचना शुरू किया। अधिकारी इस बात से उदासीन रहे कि जिस परियोजना को परिवहन के सुगम संचालन और लोगों को राहत देने के लिए लाया गया था वह जाम, रूकावट और जन हानि का कारण बन रही है। प्रोजेक्ट की रैलिंग टूटी हैं, क्रॉसिंग्स पार करना खतरनाक है, और कॉरिडोर में चलने वाली सार्वजनिक परिवहन बसों तक पहुचना भी चुनौतीपूर्ण है इसलिए इन बसों का उपयोग नही हो पा रहा है। परिवहन मंत्री ने कहा कि शहर में बीआरटीएस कॉरिडोर के भविष्य में विस्तार की संभावना भी नहीं है। इन सभी कारणों से शहर के बीआरटीएस कॉरिडोर को हटाने का समय आ गया है।
 
 उन्होंने कहा कि सीकर रोड पर बीआरटीएस कॉरिडोर हटने से सड़क पर जाम और दुर्घटनाओं में कमी आएगी और बसों के सड़क किनारे रुकने से आमजन को सार्वजनिक परिवहन साधनों के उपयोग में आसानी रहेगी। 
 
परिवहन एवं गृह विभाग के अतिरिक्त मुख्य सचिव श्री राजीव स्वरूप ने कहा कि बीआरटीएस कॉरिडोर की संकल्पना ठीक हो सकती है लेकिन शहर के लिए यह परियोजना अब तक कागजी ही सिद्ध हुई है। प्रमुख शासन सचिव नगरीय विकास विभाग श्री भास्कर ए सावंत एवं एमडी मेट्रो रेल परियोजना डॉ. समित शर्मा ने एक प्रस्तुतीकरण के माध्यम से बीआरटीएस कॉरिडोर की संकल्पना की जानकारी दी। अतिरिक्त पुलिस निदेशक (यातायात) स्मिता श्रीवास्तव ने शहर में सार्वजनिक परिवहन सेवा के उपयोग के लिए जनमानस को जागरूक करने की बात कही। बैठक में जेडीसी श्री टी.रविकांत, स्वायत्त शासन सचिव श्री भवानी सिंह देथा, परिवहन आयुक्त एवं सचिव श्री रवि जैन, सचिव आवासन मण्डल संचिता विश्नोई, डीआईजी यातायात अंशुमान भोमिया, सीईओ स्मार्ट सिटी जयपुर श्री लोकबन्धु, एडीशनल कमिश्नर टे्रफिक श्री राहुल प्रकाश समेत सम्बन्धित विभागों के अधिकारी शामिल हुए।