ALL राजस्थान अंतर्राष्ट्रीय राष्ट्रीय लेख अध्यात्म सिने विमर्श वाणिज्य / व्यापार
दिल्ली से 16 श्रमिक स्पेशल बसों में 426 श्रमिकों को किया राजस्थान रवाना
May 22, 2020 • तहलका ब्यूरो • राष्ट्रीय
नई दिल्ली। राजस्थान सरकार द्वारा चलाई जा रही श्रमिक स्पेशल बसों द्वारा देश के विभिन्न हिस्सों से राजस्थान के फंसे हुए श्रमिकों को निशुल्क वापस राजस्थान लाया जा रहा है। इसी क्रम में आज दिल्ली के विभिन्न जिलों से 16 श्रमिक स्पेशल बसों को राजस्थान के लिए रवाना किया गया।
 
राजस्थान फाउंडेशन के आयुक्त धीरज श्रीवास्तव ने बताया कि आज दिल्ली के राहत केंद्रों तथा विभिन्न जगहों पर फंसे हुए 426 श्रमिकों को राजस्थान रोडवेज की 16 श्रमिक स्पेशल बसों के माध्यम से राजस्थान के विभिन्न जिलों में भेजा गया। दिल्ली के जिला मजिस्ट्रेट कार्यालयों  से इन मजदूरों की मेडिकल स्क्रीनिंग करवाई गई तथा सभी को मेडिकल सर्टिफिकेट प्रदान किए। इन मजदूरों को भोजन बिस्किट और पानी, मास्क तथा सैनिटाइजर इत्यादि सुविधाओं की व्यवस्था करवा बसों में बैठाकर रवाना किया गया। दिल्ली के विभिन्न जिला मुख्यालयों से रवाना की गई बसों को गुड़गांव के इफको चौक पर रिसफल सेंटर में व्यवस्थित किया गया, ताकि एक रूट के सभी श्रमिकों को एक बस से भेजा जा सके और वो आसानी से अपने गंतव्य तक पहुंच सके।
 
रिसफल सेंटर के प्रभारी रामचंद्र ने बताया कि दिल्ली से रवाना हुई बसों को इफको सेंटर पर राजस्थान के विभिन्न जिलों के लिए रूट बनाकर भेजा गया इनमें 16 बसों में से सात बस जयपुर के लिए ,चार चूरू के लिए, दो भरतपुर एक-एक अजमेर, नागौर और अलवर के लिए श्रमिकों को बैठाकर रवाना की गई।
 
अतिरिक्त आवासीय आयुक्त मनोज कुमार ने बताया कि राजस्थान सरकार ने दिल्ली में फंसे श्रमिकों के लिए 100 श्रमिक स्पेशल बसें लगाई है। दिल्ली से राजस्थान भेजे जाने वाले श्रमिकों में पहले चरण में हमने उन श्रमिकों को भेजा है जो दिल्ली में राहत केंद्रों में या कहीं ऐसी जगह पर फंसे हुए हैं जहां खाने और रहने की दिक्कतें है। इनमें से ज्यादातर श्रमिकों ने राजस्थान सरकार के ऑनलाइन पोर्टल पर रजिस्ट्रेशन करवाया हुआ है तथा कुछ ऐसे भी श्रमिक हैं जिनके पास ऑनलाइन रजिस्ट्रेशन करवाने की सुविधा नहीं है तथा ज्यादा पढ़े लिखे भी नहीं है उन लोगों को एनजीओ अथवा हमें मिली विभिन्न जानकारियों के आधार पर उनके तुरंत रजिस्ट्रेशन करवाएं और बसों से भिजवाने की व्यवस्था की गई है।