ALL राजस्थान अंतर्राष्ट्रीय राष्ट्रीय लेख अध्यात्म सिने विमर्श वाणिज्य / व्यापार
एमएसएमई व अन्य इकाइयों के साथ ही अब 490 से अधिक खादी ग्रामोद्योग संस्थानों में भी उत्पादन आरंभ-एसीएस उद्योग डॉ. अग्रवाल
April 30, 2020 • तहलका ब्यूरो • राजस्थान

जयपुर। अतिरिक्त मुख्य सचिव उद्योग डॉ. सुबोध अग्रवाल ने कहा है कि एमएसएमई और बड़े उद्योगों के साथ ही राज्य की खादी एवं ग्रामोद्योग से जुड़ी संस्थाओं और कुटीर उद्योगों में भी काम शुरु कराने की पहल की गई है। उन्होंने बताया कि राज्य में खादी से जुडे 449 ग्रामोद्योग और 43 खादी संस्थाओं में काम शुरु हो गया है।

एसीएस उद्योग डॉ. अग्रवाल ने बताया कि प्रदेष में सात हजार से अधिक औद्योगिक इकाइयां खुल गई है वहीं 449 छोटी छोटी ग्रामोद्योग इकाइयों में मिट्टी बर्तन  व अन्य उत्पाद, मसाला, पापड़-मंगोड़ी, आचार, हस्तषिल्प, आटा पिसाई व इसी तरह के अन्य कार्य शुरु हो गए हैं। उन्होंने बताया कि ग्रामोद्योग इकाइयों में लगभग 1700 श्रमिक काम करने लगे हैं वहीं खादी संस्थाआंे के खुलने से 852 कातिनों को रोजगार मिलने लगा है। उन्होंने बताया कि खादी संस्थाआंे द्वारा हजारों की संख्या में मास्क तैयार कर उपलब्ध कराए जा रहे हैं।

डॉ. अग्रवाल ने बताया कि राज्य सरकार का प्रयास है कि केन्द्र व राज्य सरकार द्वारा जारी एडवाइजरी और सुरक्षा प्रोटोकाल का पालन सुनिष्चित कराते हुए राज्य की औद्योगिक गतिविधियों को तेजी से पटरी पर लाया जाए। इसी का परिणाम है कि राज्य में कर्फ्यू ग्रस्त इलाकों को छोड़कर शेष सभी औद्योगिक क्षेत्रों को खोल दिया गया है। हांलाकि कोरोना महामारी को देखते हुए सभी औद्योगिक क्षेत्रों में सुरक्षा प्रोटोकाल की शतप्रतिषत पालना सुनिष्चित कराने के निर्देष दिए गए है।

उद्योग आयुक्त मुक्तानन्द अग्रवाल ने बताया कि विभाग के नियंत्रण कक्ष को प्रभावी बनाया गया है। उन्होंने बताया कि प्राप्त उद्यमियों द्वारा चाही जा रही जानकारी व उनकी समस्याओं के निस्तारण के बाद संबंधित उद्यमी से फीडबेक लेने के भी नियंत्रण कक्ष प्रभारियों को निर्देष दिए गए हैं। उन्होंने बताया कि विभागीय मोनेटरिंग व्यवस्था को भी चाक चोबंद किया गया है।