ALL राजस्थान अंतर्राष्ट्रीय राष्ट्रीय लेख अध्यात्म सिने विमर्श वाणिज्य / व्यापार
घर बैठे किराना एवं आवष्यक सामान की आपूर्ति के लिए जिला प्रषासन ने 50 थाना क्षेत्र में उतारे 50 वाहन
March 31, 2020 • तहलका ब्यूरो • राजस्थान

आमेर, सांगानेर, जयपुर  तहसील स्तर पर बनाए कन्ट्रोल रूम


जयपुर। अतिरिक्त जिला कलक्टर द्वितीय पुरूषोत्तम शर्मा ने बताया कि मंगलवार को जिला प्रषासन द्वारा जयपुर शहर में घर-घर जाकर किराना, दूध, सब्जी आदि सामान की आपूर्ति के लिए शहर के 50 थाना क्षेत्रों में 50 वाहन लगाए गए हैं। इनके जरिए पूरे जयपुर में उचित मूल्य पर सामान की आपूर्ति की जाएगी।


उन्होने बताया कि हर थाने से मांग के आधार पर एक-एक गाडी और लांच की जाएगी। हर वाहन पर दो-दो प्रभारी लगाए गए हैं जो उस गाड़ी के साथ रहेंगे और इसके जरिए होने वाली आपूर्ति को बाधारहित होना सुनिष्चित करेंगे।  साथ ही इस व्यवस्था को सुरवाइज करने के लिए भी अधिकारी लगाए गए हैं। सांगानेर, आमेर एवं जयपुर में तहसील स्तर पर इनके कन्ट्रोल रूम स्थापित कर दिए गए हैं। उन्होंने बताया कि इन वाहनों के जरिए डोर टू डोर सामान की आपूर्ति से कोरोना आपदा के इस समय लोगों की आवष्यक सामान की जरूरत घर बैठे पूरी हो सकेगी।

प्रमुख स्टोर्स द्वारा होम डिलीवरी भी जारी


शर्मा ने बताया कि होम डिलीवरी की उपरोक्त व्यवस्था के अलावा रिलायंस, डीमार्ट, ग्रोफर्स, बिग बाजार जैसे कई स्टोर्स भी विभिन्न सामानों की होम डीलीवरी कर रहे हैं। इन्हें दूरभाष पर बुकिंग के बिना भी पर्याप्त स्टाॅक के साथ शहर में योजनाबद्ध तरीके से होम डिलीवरी के लिए निर्देषित किया जा चुका है।

जरूरतमंदों को पर्याप्त भोजन पैकेट्स एवं सूखा राषन


अतिरिक्त जिला कलक्टर ने बताया कि राज्य सरका के निर्देष के अनुसार कि प्रदेष में कोई भूखा नहीं सोए जयपुर जिले में भी तैयार भोजन एवं सूखी सामग्री का वितरण किया जा रहा है। जयपुर में जरूरत मंद व्यक्तियों को सुबह शाम करीब 1 लाख तीस हजार से अधिक तैयार भोजन पैकेट्स उपलब्ध कराए गए हैं। इसमें राजकीय संसाधनों के अलावा कई दानदाता, भामाषाह, धार्मिक-सामाजिक ंसंस्थाएं एवं अन्य भी सहयोग कर रहे हैं।


उन्होंने बताया कि ऐसे व्यक्तियों को जिनके पास भोजन पकाने की सुविधा है लेकिन लाॅकडाउन के कारण राषन खरीदना बस में नहीं है, उन्हें सूखी सामग्री का पैकट उपलब्ध कराया जा रहा है। इसके लिए नगर निगम एवं सिविल डिफेंस की टीम द्वारा सर्वे कराया गया है। अब तक शहर में 7 हजार से अधिक सूखी सामग्री के पैकेट्स बांटे जा चुके हैं। इस पेकेट में 5 किलो आटा, एक  किलो चावल , एक किलो दाल, एक किलो नमक, आधा लीटर तेल, हल्दी, मिर्ची, साबुन जैसी सामग्री है। साथ ही पीडीएस की दुकानेां से भी राषन वितरण किया जा रहा है। ज्यादातर सामान पात्र व्यक्तियों को उनके स्थान पर ही वितरित किया जा रहा है।