ALL राजस्थान अंतर्राष्ट्रीय राष्ट्रीय लेख अध्यात्म सिने विमर्श वाणिज्य / व्यापार
इंटरडिसीप्लिनरी रिसर्च से बढ़ेंगे युवाओं के लिए अवसर: आलोक भारती
June 12, 2020 • तहलका ब्यूरो • राजस्थान
डॉ. के. एन. मोदी विश्वविद्यालय में चल रहे पाँच दिवसीय शॉर्ट टर्म कोर्स का समापन
जयपुर। यह समय इन्टरडिसिप्लिनरी रिसर्च का है और इसलिए विद्यार्थियों के लिए अवसर की कोई कमी नहीं हैं। ये विचार अमेरिका स्थित आयोवा स्टेट यूनिवर्सिटी के रिसर्चर आलोक कुमार भारती ने निवाई स्थित डॉ. के. एन. मोदी विश्वविद्यालय में गत पाँच दिनों से चल रहे ऑनलाइन शॉर्ट टर्म कोर्स “एमर्जिंग ट्रेंड्स इन मेकनिकल एंजिनीयरिंग” के समापन सत्र के दौरान रखे।
उन्होंने बड़ी सुंदरता के साथ सौर और पवन ऊर्जा के मूल सिद्धांतों से लेकर आर्टिफिशयल इंटेलीजेन्स और इंटरनेट ऑफ थिंग्स तक की नवीनतम टेक्नोलॉजी में ऊर्जा के अनुप्रयोगों के बारे में बताया।
 
राजस्थान सरकार के टेक्निकल एजुकेशन डिपार्ट्मेन्ट से डॉ. अविनाश पँवार ने प्रतिभागियों  को संबोधित करते हुए बताया कि  लीन मैन्युफैक्चरिंग मैकेनिकल इंजीनियरिंग की एक एडवांस टेक्निक है जिसके कारण हम कम समय और कम वेस्टेज में अधिक उत्पादन कर सकते हैं। डॉ. पँवार कहा कि हम अपने जीवन में भी अनावश्यक कार्य हटाकर समय की गुणवत्ता बढ़ा सकते हैं और न्यूनतम आवश्यक संसाधनों के उपयोग से पृथ्वी को संरक्षित रख सकते हैं। ऊर्जा के संसाधन सीमित है तथा विश्व में इनके बढ़ते हुए उपयोग के कारण हमें नवीकरणीय ऊर्जा के स्रोतों का उपयोग हमारे दैनिक जीवन में बढ़ाना होगा। इस अवसर पर मैकेनिकल विभाग के उपाध्यक्ष प्रदीप कुमार शर्मा  ने विश्वविद्यालय तथा विभाग के बारे में प्रेजेंटेशन दिया। उन्होंने विश्वविद्यालय में चल रहे विभिन्न कोर्स के साथ चल रहे अतिरिक्त पाठ्यक्रम और गतिविधियो की जानकारी दी। 
 
देश विदेश के दस एक्स्पर्ट्स ने किया प्रतिभागियों को अपडेट
 
कोर्स के समन्वयक असिस्टेंट प्रोफेसर अमित झालानी ने बताया कि कोरोना समस्या में विद्यार्थियों के शिक्षण अबाधित रूप से चालू रखने के लिए इस तरह के कोर्स का आयोजन किया गया था। इसमें देश के प्रतिष्ठित आईआईटी, एनआईटी और अमरीका के प्रतिष्ठित संस्थान के एक्सपर्ट्स डॉ. अनमेष श्रीवास्तव, डॉ. ओमजी शुक्ला, डॉ. आशीष सिंह और डॉ. कमल किशोर खत्री, डॉ. राहुल गोयल, डॉ. पंकज गुप्ता ने मेकेनिकल इंजिनीयरिंग में चल रही नवीनतम प्रगति और ट्रेंड्स के संबंध में प्रतिभागियों को जानकारी दी। कोर्स के माध्यम से विद्यार्थियों को वर्तमान में चल रही लेटेस्ट टेक्नोलॉजी के बारे में पता चला है। इससे विद्यार्थी खुद को आने वाले समय के लिए बेहतर तरीके से तैयार कर पाएंगे।
 
विश्वविद्यालय के रजिस्ट्रार संदीप गुप्ता ने मैकेनिकल विभाग की टीम को सफलतापूर्वक ऑनलाइन फ्री कोर्स संपन्न कराने पर बधाई दी। उन्होंने कहा कि ऐसे प्रोग्राम टीम की एकजुटता तथा बेहतर आपसी तालमेल के द्वारा ही सम्पन्न किए जा सकते हैं। कार्यक्रम के अंत में विभागाध्यक्ष ओंकार मल बुनकर ने सभी प्रतिभागियों और अतिथियों को धन्यवाद दिया और आगे भी इस तरह के कार्यक्रम में सहयोग की अपेक्षा प्रकट की। अवसर पर विभाग के अखिलेश कुमार, धीरज मिश्रा व राकेश महावर सहित विभिन्न कॉलेज तथा विश्वविद्यालयों के 150 से ज्यादा प्रोफेसर और छात्र-छात्राएं उपस्थित थे।