ALL राजस्थान अंतर्राष्ट्रीय राष्ट्रीय लेख अध्यात्म सिने विमर्श वाणिज्य / व्यापार
जिले में 50 से अधिक केन्द्रों पर रोजाना 5 हजार से अधिक किसान कर रहे अपनी फसल का विक्रय: जिला कलक्टर
May 29, 2020 • तहलका ब्यूरो • राजस्थान
जयपुर। जिला कलक्टर डॉ.जोगाराम ने जिले में न्यूनतम समर्थन मूल्य पर जारी सरसों, चने और गेहूं की खरीद एवं भण्डारण कार्य की शुक्रवार को समीक्षा की। उन्होंने अधिकारियों को निर्देश दिए कि खरीद केन्द्र पर आने वाले किसान को गिरदावरी के अनुसार उपज के विक्रय में किसी तरह की परेशानी नहीं आए। उन्होंने राजफैड के अधिकारियों को क्रय की गई फसलों के भण्डारण की व्यवस्थाओं में जल्द से जल्द सुधार करने के निर्देश दिए।
 
डॉ.जोगाराम ने बताया कि जिले में किसान क्रय विक्रय सहकारी समिति के कुल 14 केन्द्रों पर गेहूं, चना एवं सरसों की फसल की न्यूनतम समर्थन मूल्य पर खरीद की जा रही है। इसके अलावा ग्राम सहकारी समिति के 36 केन्द्रों पर किसान अपनी उपज विक्रय कर रहे हैं। इसके अलावा एफसीआई के पावटा एवं विराट नगर के दो अन्य केन्द्रों पर भी फसलों की खरीद जारी है। उन्होंने बताया कि किसानों को उनकी फसल के टोकन दिए जाते हैं जिनके आधार पर वह इन केन्द्रों पर अपनी उपज का विक्रय कर सकता है।
 
जिला कलक्टर ने बताया कि एक मई से प्रारम्भ किए गए फसल क्रय केन्द्रों पर वर्तमान में हर क्रय केन्द्र पर प्रतिदिन करीब 100 किसान अपनी उपज का विक्रय कर रहे हैं। इस प्रकार जिले के सभी क्रय केन्द्रों पर प्रतिदिन औसतन 5000 से अधिक किसान अपनी उपज का विक्रय कर रहे हैं।  
 
उन्होंने बताया कि अब तक 98 हजार 495 क्विंटल सरसों एवं एक लाख 8 हजार 52 क्विंटल चने की खरीद की जा चुकी है। क्रय किए जाने के बाद इस फसल को राजफैड द्वारा सम्बन्धित वेयर हाउस में भेजा जाता है। राजफैड के चौमूं, रूपनगढ़ एवं सीतापुरा स्थित गोदामों में इस फसल का भण्डारण किया जा रहा है। बैठक में सहकारिता विभाग, राजफेड, कृषि विभाग एवं जिला प्रशासन के अधिकारी शामिल हुए।