ALL राजस्थान राष्ट्रीय अंतर्राष्ट्रीय लेख अध्यात्म सिने विमर्श वाणिज्य / व्यापार
कोरोना की वजह से फंसे प्रवासी राजस्थानियों को लाने के लिए कटिबद्ध है राज्य सरकार।
May 15, 2020 • तहलका ब्यूरो • राजस्थान

नई दिल्ली। मुख्यमंत्री अशोक गहलोत के प्रयासों से विदेशों में फंसे प्रवासी राजस्थानियों को लाने सार्थक कदम उठाए जा रहे हैं इसी दिशा में बंदे भारत मिशन के पहले चरण के दौरान अभी तक देश के विभिन्न एयरपोर्ट्स पर करीब डेढ़ सौ प्रवासी राजस्थानी विदेशों से आ चुके हैं ,जिन्हें उन्हीं शहरों में संबंधित राज्य सरकारों के सहयोग से क्वॉरेंटाइन किया गया है। बंदे भारत मिशन के पहले चरण में दिल्ली में आने वाले प्रवासी राजस्थानीओ की संख्या करीब 81से ज्यादा है जिन्हें दिल्ली के विभिन्न होटलों दिल्ली सरकार के सहयोग से 14 दिन के लिए क्वॉरेंटाइन किया गया। 
राजस्थान फाउंडेशन के आयुक्त श्री धीरज श्रीवास्तव ने बताया कि बंदे भारत मिशन का दूसरा चरण 16 मई से शुरू होने जा रहा है जिसमें विशेष रूप से सेंट्रल एशिया, रसिया यू.के., यूक्रेन, टोरंटो, कजाकिस्तान, अल्माटी ,मास्को में फंसे पढ़ने वाले विद्यार्थियों को लाये जाने को प्राथमिकता दी जाएगी। दूसरे चरण की अधिकांश उड़ानों को जयपुर एयरपोर्ट पर ही उतारा जाएगा।
*दिल्ली एयरपोर्ट पर राउंड द क्लाॅक कार्य कर रहे है राजस्थान के डॉक्टर्स*

विदेशों से आने वाले फंसे हुए  प्रवासी राजस्थानीयों की मेडिकल स्क्रीनिंग करने के लिए आवासीय आयुक्त कार्यालय की निगरानी में बीकानेर हाउस स्थित डिस्पेंसरी के डॉक्टरों की टीम राउंड द क्लाॅक कार्य कर रही है।आवासीय आयुक्त कार्यालय से संबंधित कार्यालयों के अधिकारी एवं कर्मचारी विदेशों से आने वाले प्रवासी राजस्थानीओं के लिए प्रोटोकॉल देने तथा उन्हें क्वॉरेंटाइन सेंटर तक भेजने के लिए 24 घंटे कार्य कर रहे हैं।