ALL राजस्थान अंतर्राष्ट्रीय राष्ट्रीय लेख अध्यात्म सिने विमर्श वाणिज्य / व्यापार
कोरोना से प्रभावित अर्थव्यवस्था को पटरी पर लाने के लिए विज्ञान एवं प्रौद्योगिकी का प्रयोग जरूरी: उप मुख्यमंत्री
June 25, 2020 • तहलका ब्यूरो • राजस्थान
विज्ञान एवं प्रौद्योगिकी के नए भवन का उद्घाटन
 
जयपुर। उप मुख्यमंत्री सचिन पायलट ने कहा कि कोरोना महामारी के दौरान प्रभावित हुई अर्थव्यवस्था को पटरी पर लाने के लिए हमें आने वाले समय में बड़े स्तर पर विज्ञान एवं प्रौद्योगिकी का प्रयोग करना पड़ेगा तथा नवाचार करने होंगे। उन्होंने कहा कि इस चुनौतिपूर्ण समय में हमें स्कूलों और कॉलेजों तक वैज्ञानिक प्रवृत्तियों को और बढ़ाने की आवश्यकता है।
 
पायलट गुरूवार को वीडियो कांफ्रेंस के माध्यम से राजधानी के शास्त्रीनगर स्थित क्षेत्रीय विज्ञान केन्द्र के नवनिर्मित विज्ञान एवं प्रौद्योगिकी भवन के उद्घाटन कार्यक्रम को सम्बोधित कर रहे थे। उन्होंने परिवहन मंत्री एवं स्थानीय विधायक प्रताप सिंह खाचरियावास की अध्यक्षता में आयोजित वर्चुअल कार्यक्रम में लगभग 4.66 करोड़ रूपये की लागत से बने विज्ञान एवं प्रौद्योगिकी भवन का ई-उद्घाटन किया। उन्होंने कहा कि भविष्य में भी नए भवन में आवश्यकता के अनुसार विकास कराया जायेगा।
 
पायलट ने कहा कि नए भवन के माध्यम से विज्ञान एवं प्रौद्योगिकी विभाग अपने अलग-अलग संसाधनों का बेहतर तरीके से उपयोग कर सकेगा। इससे प्रदेश की जनता के हितों में काम करने में सहयोग मिलेगा। विज्ञान एवं प्रौद्योगिकी एक ऎसा क्षेत्र है जिसमें देशभर के नौजवान बहुत बड़ी भूमिका निभा सकते हैं। हमें विभिन्न क्षेत्रों में विज्ञान और प्रौद्योगिकी आधारित नवाचार करने होंगे और इसमें प्रदेश और देश के युवा पूरी तरह सक्षम हैं।
 
प्रतापसिंह खाचरियावास ने कहा कि विज्ञान एवं प्रौद्योगिकी के माध्यम से विकास की योजनाओं को आमजन तक पहुंचाना हम सबकी जिम्मेदारी है और नए भवन के माध्यम से इसमें मदद मिलेगी। हम आमजन की उम्मीदों पर खरा उतरने की भावना से मजदूर, किसान और हर वर्ष के हित के लिए काम कर रहे हैं।
 
विज्ञान एवं प्रौद्योगिकी विभाग की शासन सचिव मुग्धा सिन्हा ने वीडियो कांफ्रेंस में नवनिर्मित भवन की विशेषताओं के बारे में जानकारी दी।