ALL राजस्थान अंतर्राष्ट्रीय राष्ट्रीय लेख अध्यात्म सिने विमर्श वाणिज्य / व्यापार
कोरोना से प्रदेश का पर्यटन उद्योग भी वेंटिलेटर पर: सांसद दीयाकुमारी
April 23, 2020 • तहलका ब्यूरो • राजस्थान
पुर्नरूत्थान के लिए समस्त कर में छूट के साथ विशेष पैकेज स्वीकृत करने की मांग
 
राजसमन्द। सांसद दीयाकुमारी ने कहा कि कोरोना COVID 19 के कारण प्रदेश का पर्यटन उद्योग भी वेंटिलेटर पर पहुंच गया है जिसको आक्सीजन रूपी राहत पैकेज की सख्त आवश्यकता है। मुख्यमंत्री अशोक गहलोत को पत्र भेजकर ठप्प हो चुके राज्य के पर्यटन उद्योग के पुर्नरूत्थान के लिए समस्त कर में छूट के साथ विशेष पैकेज स्वीकृत करने की मांग करते हुए सांसद दीयाकुमारी ने कहा कि राजस्थान अपनी संस्कृति, संस्कार, स्थापत्य व ऐतिहासिक धरोहरों के कारण विश्वप्रसिद्ध है। राजस्थान देशी व विदेशी पर्यटकों में मुख्य आकर्षण का केन्द्र रहता है और इसी कारण इस पर्यटन व्यवसाय से लाखों की संख्या में लोग प्रत्यक्ष और अप्रत्यक्ष रूप से जुड़े है और यहीं आजीविका का माध्यम है।
 
"पधारो म्हारा देश" हमारे आतिथ्य सत्कार का परिचायक है। भारत भ्रमण पर वर्तमान में हमारा देश COVID 19 की समस्या से जुझ रहा है और चूंकि यह महामारी बाहर से आने वाले व्यक्तियों के कारण फैली है इस कारण आने वाले समय में पर्यटन व्यवसाय पूर्ण रूप से बाधित रहेगा। बड़े स्तर पर इस व्यवसाय से जुड़े होटल , रेस्टोरेंट मालिक, गाइड, हाथी मालिक, टयूर एण्ड ट्रेवल्स, ज्वैलरी और कपड़ा, हस्तशिल्प व्यापारी, कलाकार, शिल्पकार, लोकगायक इत्यादि सभी का व्यवसाय संकट में आ गया है। 
 
वहीं इस क्षेत्र में कार्य कर रहे लोगों के लिए आजीविका का संकट उत्पन्न हो गया है। अतः ऐसी विषम स्थिति में सरकार से अनुरोध है की राज्य के निवासियों के रोजगार के इस प्रमुख केन्द्र पर्यटन उद्योग के पुर्नरूत्थान व इस क्षेत्र से जुडे लोगों की आजीविका को ध्यान में रखते हुए एक विशेष राहत पैकेज स्वीकृत करें। वहीं इस व्यवसाय से संबंधित समस्त करों में छूट देते हुए जनता को राहत प्रदान करें।