ALL राजस्थान अंतर्राष्ट्रीय राष्ट्रीय लेख अध्यात्म सिने विमर्श वाणिज्य / व्यापार
कोरोना वारियर्स से दुर्व्यवहार के मामलो को सख्ती से निपटा जाएगा, अब तक 300 से अधिक गिरफ्तार
April 30, 2020 • तहलका ब्यूरो • राजस्थान

जयपुर।  प्रदेश में कोरोना संक्रमण की वैश्विक आपदा को ध्यान में रखते हुए राजस्थान पुलिस द्वारा लॉकडाउन एवं कर्फ्यू के प्रावधानों की सख्ती से पालन करवायी जा रही है । कोरोना वारियर्स की सुरक्षा पर विशेष ध्यान दिया जा रहा है। कोरोना वारियर्स के साथ दुर्व्यवहार के मामले में अब तक 300 से ज्यादा मुल्जिमों को गिरफ्तार किया जा चुका है।

अतिरिक्त महानिदेशक पुलिस अपराध बी एल सोनी ने बताया कि कोरोना वारियर्स चिकित्सा एवं स्वास्थ्य, पुलिस व सफाई आदि विभागों से जुड़े कर्मचारी आमजन को महामारी से बचाने के लिए तत्परता से कार्य कर रहे हैं। इनके साथ मारपीट की घटनाओं को सख्ती से डील किया गया है। उन्होंने बताया कि इन मामलों में अब तक 300 से ज्यादा व्यक्तियों को गिरफ्तार किया गया है। इन मामलों में प्रत्येक मुकदमे का पुलिस अधीक्षक एवं रेंज आईजी स्तर पर सुपरविजन किया जा रहा है। साथ ही मुख्यालय स्तर पर महानिरीक्षक अपराध को यह जिम्मेदारी सौंपी गई है। प्रत्येक जिले में पुलिस अधिकारियों को नोडल अधिकारी बनाकर उनके नाम और मोबाइल नंबर जिला नियंत्रण कक्षों में दिए गए हैं

सोनी ने कहा कि सर्वेक्षण या क्वारन्टीन के लिए आने वाले कोरोना वारियर्स आमजन की सुरक्षा के लिए है। इनके साथ सम्मान पूर्वक व्यवहार अपेक्षित है। उन्होंने आमजन से कर्फ्यू लॉकडाउन की पालना करने की अपील की है। उन्होंने कहा कि लॉक डाउन व कर्फ्यू की पालना नहीं करने पर संबंधित व्यक्ति के विरुद्ध सख्त कार्यवाही की जाएगी। इस दौरान बाहर निकलते समय सक्षम अधिकारियों से अनुमति लेकर एवं मास्क लगाने के साथ ही सोशल डिस्टनसिंग की अनुपालना सुनिश्चित करने के निर्देश दिए गए हैं। प्रदेश में लॉक डाउन का उल्लंघन करने एवं सीआरपीसी के प्रावधानों के तहत 15 हजार से अधिक लोगो प्रिवेंटिव अरेस्ट किया गया है।

अतिरिक्त महानिदेशक ने बताया कि वैश्विक महामारी कोरोना से बचाव के लिए लॉक डाउन के नियमों के उल्लंघन के करीब 1810 मुकदमे दर्ज कर 4096 व्यक्तियों के खिलाफ कार्रवाई की गई है। पुलिस ने सोशल मीडिया के दुरुपयोग के मामले में भी प्रभावी कार्रवाई करते हुए अब तक 182 मुकदमे दर्ज कर 255 लोगों के खिलाफ अभियोग दर्ज किया है। सोनी ने बताया कि इस दौरान अकारण घूमते पाये गये 2 लाख 24 हजार से अधिक वाहनों का एमवी एक्ट के तहत चालान कर 1 लाख 14 हजार वाहनों को जब्त किया गया और 03 करोड़ 63 लाख रुपये से अधिक जुर्माना वसूल किया गया है। एडीजी सोनी ने बताया कि काला बाजारी करने वाले लोगो पर भी पुलिस की पैनी नजर है। लॉक डाउन के दौरान काला बाजारी करते पाये गये दुकानदारों के विरुद्ध आवश्यक वस्तु अधिनियम के तहत 113 मुकदमे दर्ज कर कार्रवाई की जा रही है।