ALL राजस्थान अंतर्राष्ट्रीय राष्ट्रीय लेख अध्यात्म सिने विमर्श वाणिज्य / व्यापार
कोविड19 से जंग में बुजुर्गों का सहारा बने यूथ वारियर्स
May 8, 2020 • तहलका ब्यूरो • राजस्थान

जयपुर। कोविड19 की चपेट में बुजुर्गों, बच्चों और गर्भवती महिलाओं के आने की आशंका सबसे ज्यादा होती है। इसी भय से यह वर्ग सबसे अधिक चिंतित भी नजर आता है। ऐसी स्थिति में नेहरू युवा केंद्र के राष्ट्रीय स्वयं सेवक और युवा मंडलों के कार्यकर्ताओं ने इनका मनोबल बढ़ाने का जिम्मा उठाया है। नेहरू युवा केंद्र के राज्य निदेशक डॉ भुवनेश जैन ने बताया कि प्रत्येक जिले में कार्यरत युवा स्वयं सेवक एवं युवा मण्डलों के कार्यकर्ता बुजुर्गों से संवाद करते है और उन्हें कोविड19 से मुकाबला करने के लिए अपनाई जाने वाली सावधानियों के बारे में भी बताते हैं। पूरे राज्य में 72 हजार वरिष्ठ नागरिकों को सेवा उपलब्ध कराई जा रही है।  

हनुमानगढ़ के सांगरिया ब्लाक का एक गांव है भारवरवाली । राष्ट्रीय युवा स्वयं सेवक लखवीर सिंह के अनुसार 777 परिवार वाले इस गांव में करीब 570 बुजुर्ग हैं। गांव के आजाद युवा मंण्डल ने इन वरिष्ठ नागरिकों की सेवा का जिम्मा ले रखा है। गांव के प्रत्येक बुजुर्ग और बच्चे को फेस मास्क  तैयार करके निःशुल्क दिये गये हैं। युवा कार्यकर्ता बुजुर्गों और बच्चो को घर से बाहर नहीं निकलने देने की नसीहत देते हैं। नेहरू युवा केन्द्र की जिला युवा समन्वयक मधु यादव के अनुसार इसी जिले के रामपुरा और पीलबंगा में भी युवा मण्डल पूरी शिद्दत के साथ यह कार्य कर रहे हैं।

सीकर जिले के हर्ष गांव का विवेकानंद युवा मण्डल भी बुजुर्गों की सुरक्षा और देखभाल को लेकर पूरी तरह चौकस है। 21 सदस्यीय टीम हर्ष, भोया, मालियों की ढाणी और देवगढ में इस वर्ग के लोगों को मास्क उपलब्ध कराने के साथ ही दवाईयां भी लाकर दे रही है। अब तक ढाई लाख रूपये की दवा करीब चार सौ बुजुर्गों और बच्चों में बांटी जा चुकी है। गर्भवती महिलाओं की देखभाल और प्रसव की सुविधा उपलब्ध कराने में भी युवा कार्यकर्ता तत्पर रहते हैं। युवाओं ने कुछ ऐसे बुजुर्गों का जिम्मा  भी उठा रखा है जिनके परिवार में उनकी देखभाल करने वाला कोई नहीं है। सीकर और झुंझुनू के जिला युवा समन्वयक तरूण जोशी के नेतृत्व में दोनों जिलों में युवाओं ने यह ज़िम्मेदारी बखूबी संभाल रखी है।

सीकर और हनुमानगढ की तरह पूरे राज्य में बुजुर्गों, बच्चों और गर्भवती महिलाओं की देखभाल के लिए विशेष जनजागरण अभियान चलाया जा रहा है। इसके लिए राज्य के प्रत्येक ब्लाक के दो-दो युवा मण्डल पदाधिकारियों को नेहरू युवा केन्द्र संगठन, यूनिसेफ तथा यू.एन.एफ.पी.ए.की ओर से  प्रशिक्षित किया गया है।