ALL राजस्थान राष्ट्रीय अंतर्राष्ट्रीय लेख अध्यात्म सिने विमर्श वाणिज्य / व्यापार
प्रदेश में आम आदमी पार्टी उठाएगी स्कूल फीस माफी का मुद्दा, आज (शुक्रवार) मुख्यमंत्री के नाम जिलाधीश को देंगे ज्ञापन
June 18, 2020 • तहलका ब्यूरो • राजस्थान

कोरोना काल से जन-जीवन प्रभावित हुआ है अभिभावक असमर्थ हैं, स्कूल संचालक जबदस्ती बना रहे दबाव, दे रहे है धमकियां - अभिषेक जैन बिट्टू

जयपुर। आम आदमी पार्टी ने प्रदेश में बिजली आंदोलन के बाद अब प्राइवेट स्कूलों में फीस को लेकर आंदोलन करने की तैयारी शुरू कर दी है। बकायदा इसके लिए शुक्रवार को आम आदमी पार्टी के कार्यकर्ता और पदाधिकारी जयपुर सहित प्रदेश के सभी 33 जिलों में राज्य के मुख्यमंत्री एवं शिक्षा मंत्री के नाम जिलाधीशों को ज्ञापन देने की तैयारी कर रहे है। जयपुर में प्रदेश सचिव देवेंद्र शास्त्री, जयपुर जिला अध्यक्ष जवाहर शर्मा, शहर अध्यक्ष अमित शर्मा लियो, यूथ विंग प्रदेश संगठन सचिव अभिषेक जैन बिट्टू, वरिष्ठ नेता अरविंद अग्रवाल, बीकानेर संभाग यूथ विंग अध्यक्ष कमल भार्गव सहित अन्य पदाधिकारी जिला कलेक्ट्रेट मुख्यालय पर जुटेंगे और जिलाधीश से मुलाकात कर ज्ञापन भेंट करेगे।

यूथ विंग प्रदेश संगठन सचिव अभिषेक जैन बिट्टू ने कहा कि वैश्विक महामारी कोरोना के कारण पिछले सवा तीन महीने पूरा देश में लॉकडाउन की मार झेल रहा है। जिसके चलते लोगों के कारोबार, रोजगार सहित पूरा जन-जीवन बुरी तरह से प्रभावित हो गया है। इन परिस्थितियों में लोगों को घर-परिवार चलाने में बहुत सारी दिक्कतों का सामना करना पड़ रहा है। 

प्रदेश सचिव देवेंद्र शास्त्री ने बताया कि पिछले दो महीने से प्रदेश का अभिभावक मांग कर रहा है कि जब काम-धंधे ही नही है तो स्कूल फीस कहा से चुकाए। तीन महीनों से ना कारोबार है, ना रोजगार है। ऐसे में राजस्थान सरकार को राजधर्म का पालन करते हुए प्राइवेट स्कूल संचालकों को आदेश जारी कर स्कूल फीस माफ करवानी चाहिए। स्कूलों में जब पढ़ाई नही हो रही है, अभिभावकों को ना व्यापार है ना रोजगार है। ऐसे में सरकार को स्कूल संचालकों पर तत्काल संज्ञान लेते हुए छ: महीने (अप्रैल से सितंबर) तक कि फीस पूरी तरह से माफ करवानी चाहिए। 

प्रदेश प्रवक्ता दीपक मिश्रा ने बताया कि इस समय पूरा देश संकट के सबसे गंभीर दौर से गुजर रहा है, ऐसी परिस्थिति में अभिभावक अपने बच्चों की फीस दे पाने में पूरी तरीके से असमर्थ हैं। लगातार प्राइवेट स्कूल संचालकों की शिकायतें भी आ रही है वह फीस जमा ना होने पर स्कूलों से बच्चों के नाम काटे एवं क्लास अटेंड नही करने देने तक कि धमकियां लगातार दे रहे है। साथ अभिभावकों पर दबाव बनाने के लिए विभिन्न तरह के हथकंडे अपना कर फीस जमा करवाने का दबाव बना रहे है। वहीं दूसरी तरीके से भी निजी स्कूल अभिभावकों का शोषण कर रहे हैं, इस पर भी अंकुश लगाया जाना चाहिए।

आम आदमी पार्टी ने शुक्रवार को ज्ञापन के माध्यम से राज्य सरकार से अभिभावकों की अन्य मांगों के साथ जयपुर जिलाधीश को ज्ञापन भेंट प्रदेश के अभिभावकों को राहत देने की मांग करेगी।