ALL राजस्थान राष्ट्रीय अंतर्राष्ट्रीय लेख अध्यात्म सिने विमर्श वाणिज्य / व्यापार
प्रेरक बनी प्रेरणा स्कूल – 500 लोगों को दिया जा रहा है निःशुल्क भोजन
May 6, 2020 • तहलका ब्यूरो • राजस्थान

जयपुर। कोविड 19 से निपटने में फ्रंटलाइन वर्कर्स तो जी-जान से जुटे हुए हैं ही, इस महामारी की रोकथाम के लिए किए गए लॉकडाउन से प्रभावित लोगों की मदद के लिए भी कई संगठन स्वेच्छा से आगे आयें हैं। इस दौर में अनेक संगठनों का मानवीय चेहरा भी उजागर हुआ है। ऐसी ही एक नजीर पेश की है उदयपुर की राताखेत कच्ची बस्ती के निजी स्कूल संचालक श्री गिरीश भारती ने। उन्होंने अपनी  प्रेरणा स्कूल को प्रेरणा किचन में तब्दील कर दिया है और रोजाना 500 जरूरतमंद लोगों को सुबह शाम का भोजन वितरित कर रहे हैं।

गिरीश ने बताया कि लॉकडाउन के एक सप्ताह बाद राताखेत कच्ची बस्ती के कुछ गरीब लोग उनके पास आए और बोले कि उनके पास आटा-दाल और अन्य सामान खत्म हो गया है जिसके कारण दो जून की रोटी की व्यवस्था करना भी मुश्किल हो रहा है। इस बात से उनका मन द्रवित हो उठा। उन्होंने प्रेरणा किचन के नाम से एक व्हाट्स एप ग्रुप बनाया और क्षेत्र के सक्षम लोगों से गरीब लोगों को भोजन उपलब्ध कराने में सहयोग करने की अपील की। उनकी अपील जल्दी ही रंग लाई और राताखेत, हर्षनगर तथा रामपुरा क्षेत्र के भामाशाहों ने मदद की पेशकश की।

 

           दानदाताओं ने प्रेरणा किचन को आटा, दाल, चावल, तेल, सब्जी और गैस की टंकिया उपलब्ध कराई। श्री गिरीश भारती ने रसोइये और रोटी बनाने की मशीन मंगवाई। इस तरह से 28 मार्च को प्रेरणा किचन की शुरुआत हुई। तब से प्रेरणा किचन लगातार प्रतिदिन सुबह और शाम के खाने का वितरण कर रही है। राताखेत आदिवासी बस्ती, रामपुरा कालबेलिया कौलोनी, सीतामाता बस्ती, ओड बस्ती, सीसारमा, गुडिया बावडी, गोरेला और कोडियात क्षेत्र के 500 दिहाडी मजदूरों को इस किचन में बना खाना बांटा जा रहा है। भोजन बनाने और वितरण के दौरान स्वच्छता और सोशल डिस्टेन्सिंग का पूरा ध्यान रखा जाता है।