ALL राजस्थान अंतर्राष्ट्रीय राष्ट्रीय लेख अध्यात्म सिने विमर्श वाणिज्य / व्यापार
राहत सामग्री वितरण में राजनीति से गरीब जनता को राषन मिलना हुआ दूभर: परनामी
April 13, 2020 • तहलका ब्यूरो • राजस्थान

जयपुर। कोरोना महामारी के दौरान लाॅकडाउन में गरीब जनता को राहत सामग्री की व्यवस्था सिविल डिफेन्स के स्थान पर कांग्रेस विधायक की सिफारिष पर नगर निगम को दिये जाने की निन्दा करता हूं। कांग्रेस विधायक रफीक खान द्वारा सिविल डिफेंस पर राजनीतिक पृष्ठभूमि का आरोप लगाकर उनकी कार्य प्रणाली पर प्रष्न चिन्ह लगाया गया है जो कि आज की विषम परिस्थिति के समय उनकी संकीर्ण मानसिकता को दर्षाता है। उचित होता कि विधायक राजनीति ना कर, कोरोना से बचाव हेतु सोषल डिस्टेंसिग के प्रति आमजन को
जागरूक करते।

उल्लेनीय है कि सिविल डिफेंस के सेक्टर वार्डन दषकों से जयपुर में राषन कार्ड एवं आपदा प्रबन्धन की जिम्मेदारी निस्वार्थ भावना से संभालते आ रहे है। सेक्टर वार्डन्स को राषन वितरण हेतु पात्र एवं अपात्र व्यक्तियों की
सम्पूर्ण जानकारी है। सेक्टर वार्डन्स नागरिक सुरक्षा विभाग से आपदा प्रबन्धन का प्रषिक्षण प्राप्त है।


 विधायक द्वारा सिविल डिफेन्स द्वारा तैयार जरूरतमंदों की सूचियों को दरकिनार कर, अपने चहेतों की सूचियां दी गई है जिससे आदर्ष नगर विधानसभा क्षेत्र के वास्तविक जरूरतमंद को खाद्य सामग्री उपलब्ध नहीं हो पा रही
है। नगर निगम अधिकारियों द्वारा भी राहत सामग्री वितरण के समय के समक्ष विधायक द्वारा प्रस्तुत ऐसे नाम जो वास्तव में जरूरतमंद नहीं है, पर आपत्ति की है।


भारतीय जनता पार्टी के प्रतिनिधिमण्डल द्वारा जिला कलेक्टर से निवेदन भी किया गया था कि राषन वितरण का कार्य सिविल डिफेन्स के माध्यम से ही कराया जायें। नगर निगम से स्वच्छता एवं सेनेटाईजेषन का कार्य ही कराया जावें ताकि शहर में सफाई व्यवस्था सुचारू रूप से हो सकें। राहत सामग्री वितरण का कार्य नगर निगम को दिये जाने से निगम कर्मचारियों पर अतिरिक्त कार्यभार आ गया है।