ALL राजस्थान अंतर्राष्ट्रीय राष्ट्रीय लेख अध्यात्म सिने विमर्श वाणिज्य / व्यापार
राजस्थान वीरों की भूमि है इसको प्रमाण की आवश्यकता नहीं: नितिन गड़करी
June 27, 2020 • तहलका ब्यूरो • राजस्थान
राजस्थान जन संवाद रैली के तीसरे सोपान का समापन, सांसद दीयाकुमारी सहित भाजपा के वरिष्ठ कार्यकर्ताओं ने वर्चुअल रैली में लिया भाग 
राजसमन्द। राजस्थान जन संवाद रैली को संबोधित करते हुए केंद्रीय सड़क एवं परिवहन मंत्री नितिन गड़करी ने कहा कि राजस्थान वीरों की भूमि है, इसके इतिहास की जानकारी देने की आवश्यकता नहीं है। यहां के पूर्वजों ने इस देश के लिए अपने जान की आहुतियां दी है। छत्रपति शिवाजी और महाराणा प्रताप हमारे आदर्श है। 
 
गड़करी ने कहा कि हमने अनेक प्राकृतिक और अप्राकृतिक विपदाओं का सामना किया है उसी तरह से इस कोरोना विपदा से भी पार पा लेंगे। देश की जनता कोरोना जैसे संकट से जूझ रही है लेकिन मुझे विश्वास है की हम सब मिलकर इस संकट से सामना करते हुए उबर जाएंगे। हमें मान्य सामाजिक मापदंडों का पूरा पालन करते हुए घर से निकलना है।
 
गड़करी ने कांग्रेस को आड़े हाथों लेते हुए कहा कि जो काम कांग्रेस दशकों में नहीं कर पाई वो काम मोदी सरकार ने कुछ ही वर्षों में पूरा कर दिया। जम्मू कश्मीर से धारा 370 को हटाना एक संकल्प था और डॉ श्यामा प्रसाद मुखर्जी के सपने को हमने पूरा किया है। उनकी एक देश में दो प्रधान, दो निशान और दो विधान नहीं होने की बात को हमने सच कर दिखाया।
कांग्रेस के पास शहीद के परिवार से मिलने का समय नहीं है लेकिन आतंकवादियों के परिवार से मिलने का समय है। यह शर्मनाक है।
 
उन्होंने कहा कि हम विस्तारवादी नहीं है लेकिन जो हमारी तरफ आंख उठा कर देखेगा उसको करारा जवाब दिया जाएगा। गड़करी ने कहा कि हमने विकास के काम में कोई कसर नहीं रखी है। कश्मीर में अभी सिर्फ सड़क निर्माण के 60 हजार करोड़ के काम शुरू किए हैं। शिक्षा और व्यापार को बढ़ावा देंगे। रैली के दौरान गड़करी ने राजस्थान के लिए सड़क, बिजली और पानी की शुरू होने वाली अनेक योजनाओं को बताया। 
 
इससे पूर्व रैली की शुरुआत प्रदेश अध्यक्ष सतीश पूनिया ने केंद्रीय मंत्री नितिन गड़करी का स्वागत करते हुए कहा कि राजस्थान की जनता आपको सुनने के लिए आतुर है। कोरोना महामारी के दौरान कार्यकर्ताओं ने घर से निकल कर लोगों के लिए भोजन की व्यवस्था करवाई। यही भाजपा की पहचान है। प्रदेश की कांग्रेस सरकार हर क्षेत्र में विफल हुई है। चाहे वो गरीब के घर भोजन पहुंचाने का हो या अपराध पर अंकुश लगाने का।
 
नाथद्वारा के एक निजी परिसर में वर्चुअल रैली में सम्मिलित हुई सांसद दीयाकुमारी के नेतृत्व में पार्टी के वरिष्ठ नेताओं ने रैली में भाग लिया। इस दौरान सांसद ने कहा कि वर्चुअल रैली में केंद्रीय मंत्री और अन्य नेताओं के द्वारा जन जन तक पहुंचने के आह्वान को हमें मुस्तेदी से पूरा करना है। वर्चुअल रैली को संसदीय कार्यमंत्री अर्जुन राम मेघवाल ने भी संबोधित किया। वर्चुअल रैली में मेवाड़ी वेहभूषा पहने जिलाध्यक्ष वीरेंद्र पुरोहित, पूर्व मंत्री शिवदान सिंह चौहान, पूर्व चेयरमैन महेश पालीवाल, पूर्व अध्यक्ष नन्दलाल सिंघवी, महेश प्रतापसिंह चौहान, मधुप्रकाश लड्ढा, कर्णवीर सिंह राठौड़, राजेन्द्र श्रीमाली, श्रीकिशन पालीवाल, भीमसिंह चौहान, सुरेश जोशी,  मानसिंह बारहठ, संगीता कुंवर चौहान, सुनील जोशी, महेंद्र सिंह चौहान, रमेश दवे, रामलाल जाट, अरुणा मराठा, कैलाश चौधरी, सुमेरसिंह, लालजी मीणा, वीरेंद्र सिंह चौहान, भेरूलाल कच्छारा, धीरज पुरोहित, नर्बदा शंकर, शिवशंकर पुरोहित, गिरिराज काबरा, दुर्गाशंकर मुंशी, रमाकांत गुर्जर, कमलेश पालीवाल, कुलदीप सिंह ताल, प्रदीप खत्री सहित कई कार्यकर्ता उपस्थित थे।
 
वर्चुअल रैली में श्रीनाथ जी के छवि चित्र के साथ 10 गुना 8 की स्क्रीन लगाई गई। रैली के अंत में दो मिनट का मौन रखकर शहीदों को श्रधांजलि दी गई एवं राष्ट्र के निर्माण में सक्रिय योगदान की शपथ ली गई। जल शक्ति मंत्री गजेन्द्र सिंह शेखावत ने कार्यकर्ताओं का आभार व्यक्त किया।