ALL राजस्थान राष्ट्रीय अंतर्राष्ट्रीय लेख अध्यात्म सिने विमर्श वाणिज्य / व्यापार
सामाजिक समरसता और भाईचारे की भावना का निर्माण करें- राज्यपाल कलराज मिश्र
February 8, 2020 • Bhavesh Nagar • राजस्थान
दिव्यांगों को दया की नहीं मान सम्मान की जरूरत- सांसद दीयाकुमारी
जयपुर। राज्यपाल कलराज मिश्र ने कहा कि  दिव्यांगों की सेवा सच्ची मानवता की सेवा है। हमें उनका हौसला बढ़ाना चाहिए उन्हें विकास की धारा से जोड़ना चाहिए। राज्यपाल ने संविधान की प्रस्तावना एवं संविधान के मूल कर्तव्यों का वाचन करते हुए कहा कि हमे संविधान का पालन करना चाहिए।  देश की रक्षा और सेवा का आह्वान करते राज्यपाल ने कहा कि हमे सामाजिक समरसता और भाईचारे की भावना का निर्माण करें।
प्रिंसेज दीयाकुमारी फाउंडेशन द्वारा रानी बाग ब्यावर में आयोजित स्कूटी वितरण समारोह को सम्बोधित करते हुए सांसद दीयाकुमारी ने कहा दिव्यांगों को दया की नहीं मान और सम्मान की जरूरत है और इसी से इनमें आत्मविश्वास और जीवन को जीने का जज्बा पैदा होगा। हिंदी पंचांग तिथि से मनाए जा रहे जन्मदिवस समारोह में उपस्थित सन्त प्रवर को प्रणाम करते हुए सांसद दीयाकुमारी ने कहा की संतों के सानिध्य और आशीर्वाद से बड़ा कुछ भी नहीं है। संत समागम से जीवन में वैचारिक सम्पन्नता आती है और यही राष्ट्र सेवा के जज्बे और ऊर्जा का प्रमुख स्त्रोत है। देश, समाज और मानव मात्र के प्रति सेवा और समर्पण ही जीवन का मुख्य उद्देश्य है। सांसद ने दिव्यांगों से आव्हान किया कि वे अपने अधिकारों और सुविधाओं के प्रति सजग और जागरूक रहें और सरकारी योजनाओं का भी लाभ उठाएं।
राजस्थान के राज्यपाल कलराज मिश्र के साथ राजनीतिक, सामाजिक और अन्यान्य क्षेत्रों के साथ ही राजसमन्द संसदीय क्षेत्र के आठों विधानसभा क्षेत्र से एकत्र आये लोगों का आभार प्रदर्शित करते हुए कहा कि आपका स्नेह और आशीर्वाद अविस्मरणीय है। 
संसदीय क्षेत्र मीडिया संयोजक मधुप्रकाश लड्ढा ने बताया कि प्रातः 11 बजे से 4 बजे तक आयोजित 
समारोह के दौरान उपस्थित शुभचिंतको ने सांसद को पुष्पगुच्छ, स्मृति चिन्ह, तलवार के साथ महाराणा प्रताप की प्रतिमा, श्रीचारभुजाजी, श्रीनाथजी, श्रीद्वारिकाधीशजी की छवि चित्र भेंट कर स्वस्थ और दीर्घायु जीवन की कामना की। 
इस अवसर पर बड़ी संख्या में उपस्थित क्षेत्रवासियों मैं अपने सांसद को मध्य पाकर उत्साह का माहौल देखा गया।