ALL राजस्थान अंतर्राष्ट्रीय राष्ट्रीय लेख अध्यात्म सिने विमर्श वाणिज्य / व्यापार
संकट की घडी में एकजुट होकर देष का साथ दें, इस वक्त घर में रहना ही देष की सच्ची सेवा: राज्यपाल
March 31, 2020 • तहलका ब्यूरो • राजस्थान

जयपुर। राज्यपाल कलराज मिश्र ने कोरोना वैष्विक महामारी की इस संकट की घडी में लोगों से लाॅक डाउन का पालन करने और धीरज बनाये रखने हेतु मंगलवार को प्रदेषवासियों के नाम संदेष दिया है। राज्यपाल श्री मिश्र ने कहा है कि संकट की इस घडी में सभी को एकजुट होकर देष का साथ देना है। उन्होंने कहा कि इस वक्त घर में रहना ही देष की सच्ची सेवा है।


आप एकांत में है लेकिन अकेले नही।


राज्यपाल कलराज मिश्र ने कहा कि एक परिवार के सदस्य के नाते मेरा प्रदेषवासियों से निवेदन है कि किसी भी आपात स्थिति में जरूरत के लिए हेल्पलाइन नम्बरों पर फोन करें ताकि प्रषासन से तुरन्त आवष्यक मदद और चिकित्सा मिल सके। राज्यपाल ने कहा कि याद रखिए आप एकांत में है, अकेले नही।


लोगों की मदद करें, भेदभाव न करें।


राज्यपाल ने कहा कि यदि आपके आसपास ऐसे लोग हैं, जिनके पास खाने का सामान नही है, तो उनकी मदद अवष्य करें। उन्होंने कहा कि समाज के किसी भी व्यक्ति से भेदभाव न करें।


एक मीटर की दूरी जरूर रखें।


राज्यपाल मिश्र ने कहा कि मदद करें लेकिन एक मीटर की दूरी जरूर रखें। साफ-सफाई का पूरा ध्यान रखें।


घर पर रहना ही कोरोना से बचाव का इलाज


राज्यपाल ने कहा कि कोरोना वैष्विक महामारी से बचाव ही इसका इलाज है। हम लोगों को इस बीमारी से बचने के लिए सावधानियां बताई गई हैं। इन एहतिहात का हमें पालन करना है। यह हम सभी की भलाई के लिए है। कोरोना से बचने के लिए आवष्यक सावधानियों का हमें ध्यान रखना है। यह हमारे स्वयं के लिए तो जरूरी है ही साथ ही हमारे घर, परिवार, समाज, प्रदेष और देष भी सुरक्षित रह सकेगा। 


नम्र निवेदन है कि आप घर पर रहें।


राज्यपाल ने कहा कि आपके सुखद भविष्य के लिए मेरा आपसे नम्र निवेदन है कि आप घर पर रह कर इस संकट की घडी में एकजुट होकर देष का साथ दें। 


व्यवस्था बनाने में सहयोग करने की सभी की सामूहिक जिम्मेदारी


राज्यपाल कलराज मिश्र ने कहा कि चिकित्सा पेषा महत्वपूर्ण है। इस पेषे से जुडे चिकित्सक, नर्सिग व फार्मेसी सहित अन्य स्टाफ, मीडिया ,प्रषासन और पुलिस तत्परता से अपने दायित्वों का निर्वाह कर रहा है। मैं इन सभी को साधुवाद देता हंू। उन्होंने कहा कि दूध, सब्जी-फल और किराने के व्यापारी भी इस संकट के समय में अपना कार्य कर रहे है। यह सराहनीय है।

कालाबाजारी या जमाखोरी जैसी कोई गतिविधि न करें।


मेरा आप सभी व्यापारियों से अनुरोध है कि यह समय देष की सेवा का है। इस संकट के दौर में आप लोग कालाबाजारी या जमाखोरी जैसी कोई गतिविधि न करें। व्यवस्था को बनाने में सहयोग करें । यह हम सभी की सामूहिक जिम्मेदारी हैं।