ALL राजस्थान अंतर्राष्ट्रीय राष्ट्रीय लेख अध्यात्म सिने विमर्श वाणिज्य / व्यापार
श्रद्धालुओं से धर्म स्थलों पर आने की बजाय घर पर ही प्रार्थना करने की अपील
March 18, 2020 • तहलका ब्यूरो • राजस्थान
कोरोना से बचाव के लिए सर्वसमाज की बैठक

जयपुर। कोरोना वायरस संक्रमण से बचाव के लिए बुधवार को स्थानीय पिंकसिटी प्रेस क्लब में सर्वसमाज की बैठक आयोजित की गयी। बैठक में विभिन्न समुदाय एवं समाजों के प्रतिनिधियों तथा धर्म गुरूओं ने कोरोना से बचाव के लिए अगले दो सप्ताह तक भीड़-भाड़ से दूर रहने तथा श्रद्धालुओं से धर्म स्थलों पर आने की बजाय घर पर ही प्रार्थना, पूजा-अर्चना व इबादत आदि करने की अपील की गयी है।

अतिरिक्त मुख्य सचिव चिकित्सा एवं स्वास्थ्य रोहित कुमार सिंह नेे सभी धर्मगुरूओं, विभिन्न समुदाय एवं समाजों के प्रतिनिधियों से कोरोना वायरस की रोकथाम के संबंध में जारी एडवाइजरी के बारे में जनसामान्य को जागरूक करने तथा संक्रमण रोकने के लिए किये जा रहे कार्यों में चिकित्सा एवं स्वास्थ्य विभाग का सहयोग करने की अपील की।

सिंह ने प्रदेश में कोरोना की रोकथाम के लिए राज्य सरकार की ओर से किये जा रहे प्रयासों की विस्तार से जानकारी दी। उन्होंने बताया कि जयपुर में आने वाली सभी उड़ाने से आने वाले यात्रियों की हवाई हड्डे पर स्क्रिनिंग की व्यवस्था सुनिश्चित की गयी है। अब तक 231 उड़ानों से 32 हजार से अधिक यात्रियों की स्क्रीनिंग की जा चुकी है। संदिग्ध पाये गये यात्रियों की चिकित्सा जांच की जा रही है। उन्होंने बताया कि विदेशी उड़ानों से आये यात्रियों की सघन जांच की जा रही है।

अतिरिक्त मुख्य सचिव ने बताया कि पॉजिटिव पाये गये चारों व्यक्तियों से सम्पर्क में आये सभी व्यक्तियों की सावधानपूर्वक स्क्रीनिंग की गयी है। इन चार में 3 उपचार के बाद अब कोरोना से मुक्त हो चुके हैं। संदिग्ध पाये गये व्यक्तियों को आईसोलेशन में रखने की व्यवस्था की गयी है। उन्होंने बताया कि मंगलवार सायं तक प्रदेश में कुल 469 सैम्पल जांच हेतु लिये गये। इनमें से 4 पॉजिटिव तथा 458 नेगेटिव पाये गये। शेष 7 की जांच प्रक्रियाधीन है। उन्होंने कहा कि सभी के सहयोग से इस महामारी के संक्रमण को सीमित किया जा सकता है। प्रदेश में स्थिति पूरी तरह नियंत्रण में है। अगले 2-3 सप्ताह तक लोगों को भीड़भाड से दूर रखना बेहद जरूरी है।

विभिन्न सम्प्रदायों के धर्म गुरूओं और प्रतिनिधियों ने बताया कि प्रदेश को कोरोना महामारी से बचाने के लिए मुख्यमंत्री के आग्रह पर श्रृद्धालुओं को धार्मिक स्थलों पर एकत्र न होने और यथासम्भव अपने घर पर ही ईश्वर की प्रार्थना करने का संदेश दिया गया है। उन्होंने बताया कि विभिन्न धर्मस्थलों पर स्वप्रेरणा से इस संक्रमण से बचाव के प्रयास किये जा रहे हैं। ठिकाना मन्दिर श्री गोविन्द देव जी के मानस गोस्वामी ने श्रृद्धालुओं से ऑनलाइन ही ठाकुरजी के दर्शन करने तथा मंदिर आने की स्थिति में पूर्ण सतर्कता बरतने की अपील की है। मोती डूंगरी गणेश जी मंदिर के महंत पंडित कैलाश शर्मा ने बताया कि मंदिर ट्रस्ट की ओर से पूर्ण सावधानी बरती जा रही है तथा कोरोना के बारे में जनचेतना जाग्रत करने के लिए होर्डिंग्स भी लगाये गये हैं।

वक्फ बोर्ड के चेयरमैन डॉ. खानू खां बुधवाली एवं जामा मस्जिद प्रेसिडेंट नईमुद्दीन कुरैशी ने बताया कि सरकार जो भी एडवाइजरी तथा दिशा-निर्देश जारी करेगी, उनकी पालना सुनिश्चित की जाएगी। लिविंग क्रिश्चियन मूवमेंट चर्च के फादर श्री विजय पाल ने बताया कि चर्च की ओर से श्रृद्धालुओं को कोरोना वायरस की रोकथाम के लिए सामान्य दिशा-निर्देश जारी किये जा चुके हैं। इन निर्देशों में चिकित्सा एवं स्वास्थ्य विभाग जारी एडवाइजरी की पालना की गयी है।

भारतवर्षीय दिगम्बर जैन तीर्थ क्षेत्र कमेटी मुम्बई के कार्याध्यक्ष राजेन्द्र के गोधा ने बताया कि जैन समाज द्वारा कोरोना की रोकथाम के कार्यों में सक्रिय सहभागिता की जा रही है। राज्य अल्पसंख्यक आयोग के पूर्व अध्यक्ष जसबीर सिंह एवं अध्यक्ष दिगम्बर जैन अक्षय श्री महावीर जी के अध्यक्ष सुधांशु कासलीवाल ने बताया कि सार्वजनिक स्वास्थ्य की सुरक्षा के लिए श्रृद्धालुओं से राज्य सरकार द्वारा कोरोना की रोकथाम के लिए किये जा रहे प्रयासों में सक्रिय सहयोग देने की अपील की गयी है।